सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

दिसंबर 19, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

CTET 2021: सीटेट परीक्षा में पूछे जा रहे है, ‘नई शिक्षा नीति 2020’ पर आधारित सवाल, यहाँ पढ़ें 15 सम्भावित प्रश्न

 केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा की शुरुआत 16 दिसंबर से हो चुकी है शिक्षक बनने के लिए देश भर के लाखों अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं यदि आप भी सीटेट परीक्षा देने जा रहे हैं तो यहां दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है  इस आर्टिकल में हम सीटेट पेपर 1 तथा पेपर 2 में शामिल होने जा रहे अभ्यर्थियों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आधारित कुछ संभावित प्रश्न शेयर कर रहे हैं आपको बता दें कि हाल ही में आयोजित की गई सीटेट परीक्षा की सभी में राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आधारित सवाल पूछे गए हैं, इसलिए परीक्षा में शामिल होने से पूर्व आपको इन सवालों को एक नजर जरूर पढ़ लेना चाहिए। गौरतलब है कि सीबीएसई द्वारा वर्ष में दो बार सीटेट परीक्षा आयोजित की जाती है इस परीक्षा में दो पेपर लिए जाते हैं जिन अभ्यर्थियों को कक्षा 1 से 5 तक का शिक्षक बनना है उन्हें पेपर 1 जबकि कक्षा 6 से 8 तक की शिक्षक बनने के लिए पेपर -2 पास करना आवश्यक है।  सीटेट परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार केंद्र सरकार के अधीन विभिन्न स्कूलों तथा शैक्षणिक संस्थाओं में आवेदन के पात्र हो जाते हैं हाल ही में सीबीएसई द्वारा सीटीई

CTET में लागू हो सकती है नॉर्मलाइजेशन की व्यवस्था, इसलिए इन बातों का रखें खास ध्यान

 CTET 2021 की शुरुआत 16 दिसंबर से हो गई है। ये परीक्षा कई अलग-अलग चरणों में 13 जनवरी 2022 तक कराई जाएगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा आयोजित की जाने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) 16 दिसंबर से शुरू हो चुकी है। यह परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है और इस बार इसका आयोजन 16 दिसंबर से 13 जनवरी के बीच किया जाना है।  यह परीक्षा 16 दिसंबर से जारी है जो 13 जनवरी 2022 तक चलेंगी। वहीं, 16 दिसंबर की दूसरी शिफ्ट  और 17 दिसंबर के दोनों शिफ्ट्स की परीक्षाओं को तकनीकी कारणों की वजह से रद्द कर दिया गया था जिसके बाद CBSE ने तुरंत ही अभ्यर्थियों को रद्द हुई परीक्षाओं के पुनःआयोजन के लिए नई तारीखों की घोषणा का भरोसा दिया था। बाकी चरणों की परीक्षाएं अपने निर्धारित समय के अनुसार आयोजित हो रही हैं।  CTET में लागू हो सकती है नॉर्मलाइजेशन की व्यवस्था: 16 दिसंबर से 13 जनवरी के बीच कई शिफ्ट्स में होने वाली CTET 2021 में नॉर्मलाइजेशन की व्यवस्था भी लागू की जा सकती है। दरअसल CBSE ने एक नोटिस जारी करते हुए बताया है कि इस परीक्षा में निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए नॉर्मलाइज

CTET/UPTET 2021 CDP Last Minute Revision: परीक्षा में पूछे जा सकते हैं बाल विकास और शिक्षाशास्त्र के यह सवाल

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा पत्र की तारीख 16 दिसंबर की तारीख से शुरू होगी, जैसे कि देश के शिक्षक की स्थिति परीक्षा के लिए लागू होगी 13 जनवरी 2022 तक, संबंधित राज्य शिक्षक की स्थिति की तारीख जारी होगी।   जब यह स्थिति होगी तब जब यह स्थिति होगी, तब जब इस तरह की स्थिति होगी, तब जब यह स्थिति होगी, तब जब इस स्थिति से संबंधित स्थिति होगी।  रिपोर्ट नोट की गई।  यदि आप इस प्रकार भी हैं, तो यह आपके लिए खतरनाक है, हम सीटीईटी/यूपीटीईटी परीक्षा के लिए प्रश्नों के उत्तर और भविष्य में आने वाले जीवन हैं, आपके लिए "बाल विकास"  शिक्षा के लिए "खेल" (बाल विकास और शिक्षाशास्त्र प्रश्न) प्रश्न पूछे जाने वाले प्रश्न में पहले से एक बार फिर से पढ़ना होगा।  रिकॉर्ड किए गए समय: यूपीटीईटी परीक्षा सुबह 10:00 से 12:30 के मध्य स्तर के लिए और दोपहर 2:30 से 5:00 बजे के बीच प्राथमिक स्तर की रिकॉर्ड की स्थिति ।   यह बाल विकास शिक्षा शास्त्र के 15 प्रश्न- CTET और UPTET 2021 पेपर 1 और 2 के लिए बाल विकास और शिक्षाशास्त्र अभ्यास प्रश्न  प्र.1 मन का दृश्य कार्य है –  a) बोध (समझ) तकनीक से  बी) क्रिया की

CTET/UPTET पर्यावरण अध्ययन प्रैक्टिस सेट 29 : CTET की परीक्षा से पहले इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का जरूर करें अध्ययन

 CTET की परीक्षा 16 दिसंबर, 2021 से 13 जनवरी 2022 तक आयोजित कराई जानी है। UPTET की परीक्षा कैंसिल होने के बाद बोर्ड की तरफ से नई परीक्षा तिथि की घोषणा की जा चुकी है।  UPTET की नई परीक्षा तिथि 23 जनवरी 2022 निर्धारित की गई है। इसलिए जो भी प्रतियोगी छात्र इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं वह अपनी तैयारी को और भी तेज कर दें। ऐसे में इस लेख के जरिए पर्यावरण अध्ययन के विगत वर्षों में कराए गए परीक्षाओं में से 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर सहित संग्रह को लेकर आए है। इसलिए आप इन प्रश्नों का अभ्यास अच्छी तरह से कर लें और अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान करें। CTET/UPTET Enviromental Study Practice Set  CTET/UPTET पर्यावरण अध्ययन प्रैक्टिस सेट   प्रश्न. EVS में मानचित्रण कौशल – रिकॉर्डिंग कौशल को विकसित करता है। स्थानों की सापेक्ष स्थिति की समझ को विकसित करता है। लैण्डस्कैप खींचने के कौशल को विकसित करता है। पूर्वानुमान और गणना के कौशल को विकसित करता है। उत्तर : 2 प्रश्न. कक्षा V के समयन आमतौर पर अपना दिया हुआ कक्षा का कार्य नहीं करते हैं। मुद्दे को हल करने का सबसे अच्छा उपाय हो सकता है। म

CTET 2021: सीटेट परीक्षा की हर शिफ़्ट में पूछे जा रहे है, जेंडर बेस्ड सवाल, यहाँ पढ़ें 10 सम्भावित प्रश्न

 CTET 2021 (CDP Gender based Questions): 16 दिसंबर 2021 से सीटेट परीक्षा शुरू हो चुकी है शिक्षक बनने की चाह रखने वाले 20 लाख से अधिक उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होंगे।यह परीक्षा अलग-अलग दिन दोस्तों में आयोजित की जा रही है जो कि 13 जनवरी 2022 तक चलेगी।  यदि आप भी सीटेट परीक्षा देने जा रहे हैं  तो इस आर्टिकल में शेयर की गई जानकारी आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यहां हम सीटेट पेपर -1 तथा पेपर -2 में पूछे जाने वाले “बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र” (CDP) के महत्वपूर्ण टॉपिक “जेंडर” (Gender) पर आधारित कुछ महत्वपूर्ण सवाल (CDP Gender based Questions) लेकर आए हैं हाल ही में आयोजित की गई शिफ़्टों में पूछे गए है। सीटेट परीक्षा में पूछे जाते हैं CDP के इस टॉपिक से सवाल — CDP Gender Based Questions for CTET 2021 Paper 1 & 2 1.एक अच्छी पाठ्य पुस्तक – – – – -से बचती है । (a) लैंगिक पूर्वाग्रह (b) लैंगिक संवेदनशीलता (c) लैंगिक समानता (d) सामाजिक उत्तरदायित्व Ans-(a) 2. राज्य स्तर की एक एकल गायन प्रतियोगिता के लिए विद्यार्थियों को तैयार करते समय विद्यालय लड़कियों को वरीयता देता है ।यह दर्शाता ह

CTET/UPTET 2021: Social Learning Theory Notes and MCQ अल्बर्ट बंडूरा सामाजिक अधिगम का सिद्धांत, हिन्दी में नोट्स

 यदि आप CTET, यूपीटीईटी या किसी भी शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) की तैयारी कर रहे है तो “Albert Bandura’s Social Learning Theory (अल्बर्ट बंडूरा सामाजिक अधिगम का सिद्धांत) टॉपिक को आपको अच्छे से पढ़ लेना चाहिए।  इस टॉपिक से परीक्षाओ मे हमेशा प्रश्न पूछे जाते है इसीलिए इस आर्टिकल मे हम Albert Bandura Theory Notes शेअर कर रहे है। बंडूरा का सामाजिक अधिगम सिद्धांत— Albert Bandura’s Social Learning Theory प्रतिपादक- अल्बर्ट बंडूरा निवासी- कनाडा जन्म-  4 दिसंबर 1925 सिद्धांत– 1977 में प्रयोग- बॉर्बी डॉल, जीवित जोकर सामाजिक अधिगम का अर्थ (Meaning of social learning) –  दूसरों को देखकर उनके अनुरूप व्यवहार करने के कारण वह दूसरों के व्यवहार को अपने जीवन में उतारने तथा समाज द्वारा स्वीकृत व्यवहारों को धारण करने तथा अमान्य व्यवहारों को त्यागने का कारण ही ‘सामाजिक अधिगम’ कहलाता है । Note- इस सिद्धांत में अनुकरण द्वारा सीखा जाता है । अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत के अन्य नाम 1. सामाजिक अधिगम सिद्धांत । 2. अवलोकन का सिद्धांत । 3. अप्रत्यक्षात्मक का सिद्धांत । 4. प्रेक्षणात्मक का सिद्धांत । 5. निर्देशन

CTET परीक्षा देने जा रहे हैं तो ‘अभिप्रेरणा और अधिगम’ के इन सवालों को एक बार, जरूर पढे!

 Central Eligibility Test (CTET) 2021 की परीक्षा 16 दिसंबर से प्रारंभ हो चुकी है, जो कि 13 जनवरी 2022 तक चलेगी हालांकि 16 दिसंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा की पहली शिफ्ट का पेपर तो सफलतापूर्वक हो चुका था लेकिन दूसरी शिफ्ट के पेपर को रद्द कर दिया कहा जा रहा है कि परीक्षा तकनीकी त्रुटियों के कारण स्थगित की गई है अब परीक्षा की नई डेट बहुत जल्द जारी कर दी जाएगी यदि आप भी सीटेट परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं तो हमारे द्वारा रोजाना सीटेट परीक्षा के लिए प्रैक्टिस सेट और रिवीजन क्वेश्चन शेयर किए जा रहे हैं, इसी श्रंखला में आज हम ‘बाल विकास और शिक्षाशास्त्र’ (CDP) के अंतर्गत पूछे जाने वाला एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक “अभिप्रेरणा और अधिगम” (MCQ on Motivation and learning CTET) पर आधारित सवाल आपके लिए लेकर आए हैं परीक्षा में इस टॉपिक से सवाल मुख्य रूप से पूछे ही जाते हैं परीक्षा हॉल में जाने से पूर्व आपको इन सवालों पर एक नजर अवश्य डाल लेना चाहिए। Motivation and learning Based Practice Questions for CTET 2021 paper 1 and 2 :अभिप्रेरणा और अधिगम यह सवाल परीक्षा में बार-बार पूछे जाते हैं — Q