सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

जनवरी 9, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

CTET 2021: इन उम्मीदवारों के लिए सीटीईटी परीक्षा की नई तारीख घोषित, 17 जनवरी को आयोजित होगा टेस्ट

 सीटीईटी 2021 की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अलर्ट। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) 2021 के दिसंबर 2021 चक्र का आयोजन 16 दिसंबर 2021 से 13 जनवरी 2022 तक निर्धारित तारीखों पर दो पालियों में किया गया।  हालांकि, बोर्ड द्वारा 16 दिसंबर की दूसरी पाली और 17 दिसंबर की सुबह व शाम दोनो पालियों की परीक्षाओं का आयोजन तकनीकी कारणों के चलते नहीं किया जा सका था। इन तीनों ही पालियों के लिए उम्मीदवारों के लिए सीटीईटी 2021 की नई तारीख जल्द ही घोषित किए जाने की जानकारी बोर्ड द्वारा 16 दिसंबर को दी गयी थी।  इस क्रम में, सीबीएसई द्वारा 13 जनवरी 2022 को नोटिस जारी करते हुए स्थगित पालियों की सीटीईटी परीक्षा तारीखों की घोषणा कर दी गयी है।  बोर्ड के नोटिस के अनुसार, इन पालियों के लिए परीक्षा का आयोजन अब 17 जनवरी 2022 को दोपहर की पाली में दोपहर 2.30 बजे से शाम 5 बजे तक किया जाएगा। संशोधित प्रवेश पत्र जारी लंबित सीटीई 2021 परीक्षाओं के लिए तारीखों की घोषणा के साथ ही साथ सीबीएसई ने सम्बन्धित उम्मीदवारों के लिए इन परीक्षाओं में स

UPTET 2021 Child Psychology Revision MCQ: परीक्षा के अंतिम दिनों में ‘बाल मनोविज्ञान’ के इन 15 संभावित सवालों से करें परीक्षा की, पक्की तैयारी

 UPTET Child Psychology Revision Question : उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित की जाने वाली यूपी टीईटी परीक्षा का आयोजन 23 जनवरी 2022 को किया जाएगा परीक्षा के एडमिट कार्ड 13 जनवरी को जारी कर दिए गए हैं, जिसे आप ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं, अब परीक्षा के आयोजन में केवल 1 सप्ताह का समय ही शेष रह गया है, ऐसे में परीक्षार्थी अपनी तैयारी को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं, यदि आप इस परीक्षा में सम्मिलित होने वाले हैं तो यहां दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकल में यूपी टीईटी परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण टॉपिक ‘बाल मनोविज्ञान’ से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण सवाल लेकर आए हैं,परीक्षा हॉल जाने से पूर्व आपके सवालों को एक नजर अवश्य पढ़ लेना चाहिए। परीक्षा में अक्सर पूछे जाते हैं ‘बाल मनोविज्ञान’ के महत्वपूर्ण सवाल—UPTET Exam 2021 Child Psychology Fast Revision MCQ Q.1 एक अभिभावक आपसे विद्यालय में मिलने के लिए कभी नहीं आता है, तो आप– (a) बच्चे की उपेक्षा करेंगे (b) अभिभावक को लिखेंगे (c) बच्चे को दंड देना शुरू करेंगे (d) आप स्वयं उनसे मिलने जाएंगे

UPTET 2021 Child Psychology: ‘बाल मनोविज्ञान’ के वो 15 सवाल जो UPTET परीक्षा में पूछे जा सकते हैं, इन्हें जरूर पढ़ कर जाए!

 23 जनवरी 2022 को आयोजित होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET-2021) के आयोजन में अब 10 दिन से भी कम समय शेष बचा है, अंतिम दिनों में परीक्षा के लिए की गई तैयारी बेहद मायने रखती है।  सही रणनीति के साथ परीक्षा की तैयारी करके बेहतर परिणाम हासिल किए जा सकते हैं, यदि आप भी यूपी टेट परीक्षा देने जा रहे हैं तो यहां दिए गए ‘बाल मनोविज्ञान’ के महत्वपूर्ण सवाल आपके लिए बेहद काम के हैं। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) हेतु प्रैक्टिस सेट हम आपको रोजाना उपलब्ध करवा रहे हैं, इस परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए यह समय बेहद खास है, बस आवश्यक है कि परीक्षा की अंतिम दिनों में रिवीजन पर विशेष ध्यान दें, साथ ही प्रैक्टिस सेट का अभ्यास करें। इस आर्टिकल में आज हम आपके लिए ‘बाल मनोविज्ञान’ (Child Psychology) के कुछ महत्वपूर्ण सवाल लेकर आए हैं जिन्हें पढ़कर आप परीक्षा में अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं। परीक्षा में पूछे जा सकते हैं, ‘बाल मनोविज्ञान’ के संभावित सवाल—Child Psychology Expected MCQ for Upcoming UPTET Exam 2021 Q1. अधिगम का कौन सा सिद्धांत व्यवहारवाद और

बेसिक शिक्षा विभाग में मिशन प्रेरणा का पाठ्यक्रम रद्द लागू हुआ निपुण भारत

अगले सत्र से आंगनबाड़ी केंद्रों में शैक्षिक गुणवत्ता का मानक तय हो गया, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का काम पोषाहार वितरण के साथ बच्चे को तय मानक के अनुरूप गुणवत्ता परक शिक्षा देना भी होगा। इन बच्चों को 10 तक के अंकों के ज्ञान के साथ आकृतियों की पहचान और घटाने का मानक निर्धारित है, मिशन प्रेरणा का नाम बदलकर निपुण भारत किया गया है, जिसमें कक्षा 01 से 03 तक पाठ्यक्रम के मानक में परिवर्तन हुआ है। बेसिक शिक्षा विभाग में अभी तक मिशन प्रेरणा के तहत पाठ्यक्रम निर्धारित था, प्रधानमंत्री के निर्देश पर मिशन प्रेरणा का नाम बदलकर निपुण भारत कर दिया गया है, इसके साथ ही आंगनबाड़ी केंद्रों को प्री प्राइमरी का दर्जा मिला है। इनमें पढ़ने वाले बच्चों को 01 से 10 तक के अंकों का ज्ञान के साथ 05 अक्षर के सरल शब्द पढ़ने का पाठ्यक्रम निर्धारित है, इसका नाम बाल वाटिका तय किया गया है, इसके पीछे कक्षा 01 में प्रवेश के पहले बच्चे को अंक और अक्षर का ज्ञान कराना है। एक से पांच साल के बच्चों को खेल आधारित शिक्षा देने का प्रावधान किया गया है, निपुण भारत की निगरानी के लिए ब्लाक स्तर पर टास्कफोर्स गठित होगा, जिसमें बीईओ अध्